Airforce X/Y coaching in Meerut

X Group Coaching in Daurala

New Batch NDA Airforce X Group Coaching in Daurala in Meerut starts on 20th October 2020. Timings are 10:00 am – 1:00 pm NDA Airforce X/Y Group Coaching  inMeerutTHE ORIGINAL TUTORS is among the top 3 coaching institutes of Western U.P providing guidance cum training to young energetic & dynamic aspirants of Indian Armed Forces.

Batch starts on : 20th October 2020  2 Days Free Demo Classes

Timings : 10 am – 1:00 pm  Registration Amount : 500

All 12th + young aspirants looking for career in Indian Armed Forces  , joins THE ORIGINAL TUTORS every year for NDA/Airforce X-Y/NAVY Written examination & SSB Interview.

THE ORIGINAL TUTORS aims at maximizing “ Educational effects and benefits’’ by understanding individual differences, providing guidance and counselling, motivating persistently towards the goal.

Aspirants joins the best coaching institute in Western U.P for defence services, THE ORIGINAL TUTORS    Best NDA Airforce X Group coaching in Daurala in Meerut for a great, Successful career & adventurous life of Indian Airforce.

X Group Coaching in Daurala : Madumalai Forest Reserve

चर्चा में क्यों?

14 अक्तूबर, 2020 को उच्चतम न्यायालय ने नीलगिरी हाथी कॉरिडोर (Nilgiris Elephant Corridor) पर मद्रास उच्च न्यायालय के वर्ष 2011 के एक आदेश को बरकरार रखा जो हाथियों से संबंधित ‘राइट ऑफ पैसेज’ (Right of Passage) और क्षेत्र में होटल/रिसॉर्ट्स को बंद करने की पुष्टि करता है।

प्रमुख बिंदु: 

  • मद्रास उच्च न्यायालय ने जुलाई, 2011 में घोषित किया था कि तमिलनाडु सरकार को केंद्र सरकार के ‘प्रोजेक्ट एलीफेंट‘ (Project Elephant) के साथ-साथ राज्य के नीलगिरी ज़िले में हाथी कॉरिडोर को अधिसूचित करने के लिये भारतीय संविधान के अनुच्छेद 51A (G) के तहत पूरी तरह से अधिकार प्राप्त है। 
    • यह हाथी कॉरिडोर नीलगिरी ज़िले में मुदुमलाई राष्ट्रीय उद्यान (Mudumalai National Park) के पास मसिनागुड़ी (Masinagudi) क्षेत्र में अवस्थित है।

हाथी कॉरिडोर:

  • यह भूमि का वह सँकरा गलियारा या रास्ता होता है जो हाथियों को एक वृहद् पर्यावास से जोड़ता है। यह जानवरों के आवागमन के लिये एक पाइपलाइन का कार्य करता है।
  • वर्ष 2005 में 88 हाथी गलियारे चिन्हित किये गए थे, जो आगे बढ़कर 101 हो गए। हालाँकि कई कारणों से ये कॉरिडोर खतरे में हैं।
  • विकास कार्यों के कारण हाथियों के प्राकृतिक आवास नष्ट हो रहे हैं। कोयला खनन तथा लौह अयस्क का खनन हाथी गलियारे को नुकसान पहुँचाने वाले दो प्रमुख कारक हैं।

हाथी कॉरिडोर की आवश्यकता क्यों?

  • हाथियों को चरने के लिये एक वृहद् मैदान की आवश्यकता होती है किंतु अधिकांश रिज़र्व इस आवश्यकता की पूर्ति नहीं कर पाते हैं। यही कारण है कि हाथी अपने आवास से बाहर से निकल आते हैं, जिससे मनुष्य के साथ हाथियों का संघर्ष बढ़ जाता है।

भारत में हाथी कॉरिडोर की स्थिति एवं इससे संबंधित समझौते:

  • वर्ष 2019 में एशियाई हाथी समझौते के तहत पाँच गैर-सरकारी संगठनों द्वारा एक अंब्रेला पहल (Umbrella Initiative) की शुरुआत की गई है जिसमें भारत के 12 राज्यों में हाथियों के लिये मौजूदा 101 गलियारों में से 96 गलियारों को एक साथ सुरक्षित किये जाने का प्रावधान किया गया है। 
    • एक सर्वेक्षण के दौरान देश में सात हाथी गलियारों की स्थिति बहुत खराब पाई गई है।   
    • इस समझौते के तहत गलियारों के लिये आवश्यक भूमि (Land) प्राप्त करने में आने वाली बाधाओं हेतु धन जुटाने का प्रयास किया जा रहा है।
    • इस समझौते में वाइल्डलाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया के साथ ‘NGO एलीफेंट फैमिली’ (NGOs Elephant Family), इंटरनेशनल फंड फॉर एनिमल वेलफेयर (International Fund for Animal Welfare), IUCN नीदरलैंड और वर्ल्ड लैंड ट्रस्ट (World Land Trust) शामिल हैं।

Project Elephant

मुदुमलाई राष्ट्रीय उद्यान (Mudumalai National Park):

Mudumalai-National-Park

  • ‘मुदुमलाई’ नाम का अर्थ है ‘प्राचीन पहाड़ी श्रृंखला’। वास्तव में यह 65 मिलियन वर्ष पुराना है जब पश्चिमी घाट का निर्माण हुआ था।
  • मुदुमलाई राष्ट्रीय उद्यान एवं वन्यजीव अभयारण्य को एक टाइगर रिज़र्व भी घोषित किया गया है जो तमिलनाडु राज्य के नीलगिरी ज़िले में तीन राज्यों कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के ट्राई-जंक्शन पर अवस्थित है।
  • इस अभयारण्य को पाँच श्रेणियों में विभाजित किया गया है- मसिनागुड़ी, थेपकाडु, मुदुमलाई, करगुडी और नेल्लोटा।
  • यह नीलगिर बायोस्फीयर रिज़र्व (भारत में प्रथम बायोस्फीयर रिज़र्व) का एक हिस्सा है जिसके पश्चिम में वायनाड वन्यजीव अभयारण्य (केरल), उत्तर में बांदीपुर राष्ट्रीय उद्यान (कर्नाटक), दक्षिण में मुकुर्थी राष्ट्रीय उद्यान एवं साइलेंट वैली अवस्थित है।
  • यहाँ लंबी घास की मौजूदगी है जिसे आमतौर पर ‘एलीफेंट ग्रास‘ (Elephant Grass) कहा जाता है।

प्रोजेक्ट एलीफेंट’ (Project Elephant):

  • प्रोजेक्ट एलिफेंट एक केंद्र प्रायोजित योजना है और इसे फरवरी, 1992 में हाथियों के आवास एवं गलियारों की सुरक्षा के लिये लॉन्च किया गया था।
  • यह मानव-वन्यजीव संघर्ष और घरेलू हाथियों के कल्याण जैसे मुद्दों का समाधान करने के उद्देश्य से शुरू की गई है।
  • केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय, प्रोजेक्ट एलिफेंट के माध्यम से देश में प्रमुख हाथी रेंज वाले राज्यों को वित्तीय एवं तकनीकी सहायता प्रदान करता है।

भारतीय संविधान का अनुच्छेद 51A (g):

  • अनुच्छेद 51A(g) में कहा गया है कि भारत के प्रत्येक नागरिक का कर्त्तव्य होगा कि वह वनों, झीलों, नदियों और वन्य जीवन सहित प्राकृतिक पर्यावरण की रक्षा और सुधार कार्य करेगा तथा जीवित प्राणियों के प्रति दया का भाव रखेगा।

Airforce Selections of 2019

  • THE ORIGINAL TUTORS has manifested method of teaching by the systematic application of the scientific methods, demonstrations, diagrammatical presentations, Audio-video presentations, Group discussions, Newspaper sessions.
  • All these specific learning technique have made the teaching-learning process more entertaining.
  • This directs complete concentration over the attainable objectives of the students.
  • We clearly understand that every student has his own understanding level, intelligence, liking and disliking, thoughts, social environment, capabilities, positives and area of improvement.

Join & feel the difference

  • All energetic, dynamic & passionate youth looking for a very diverse and exciting & adventurous career.
  • Apart from flying one has to manage hundreds of personnel on base camp, formulate high-level strategies and tactics.
  • During the calamities and emergencies, they step further and carry food and crucial supplies. If all the above-mentioned duties, gives you adrenaline rush then a career as an Air Force Officer is the right choice for you.
  • Come and join THE ORIGINAL TUTORS, the Best Airforce/NDA/ X/Y & AFCAT Coaching in Meerut.

For important Current Affairs, GD Topics and tips of written examinations which helps you in AirForce X/Y , NDA, CDS, AFCAT & SSB:  http://www.airforcecoaching.in/airforce-x-y-gd-topics/

For any help Contact us Please n Visit: http://www.theoriginaltutors.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *